Update on:

in

by


पिछले दिनों समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने सफाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया था

अयोध्या। दीपोत्सव के मद्देनजर पिछले दिनों हुई बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चाक चौबंद सफाई व्यवस्था के निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा था कि सफाई पर विशेष ध्यान हो। इसके बाद अयोध्या नगर निगम ने चाक चौबंद व्यवस्था कर ली। इसे लेकर हर जगह सफाई व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा रहा है। योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले दीपोत्सव को अविस्मरणीय बनाने में नगर निगम भी काफी योगदान दे रहा है। किसी को शौचालय के लिए परेशान न होना पड़ेगा, सफाई दुरुस्त मिलेगी।

दीपोत्सव के सभी सेक्टरों में विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। सफाई नायक के साथ वे आवंटित सेक्टरों में निरंतर भ्रमण कर हकीकत परखेंगे और मुश्तैद रहेंगे। साथ ही संबंधित सफाई नायकों को सूचित कर तत्काल कमियों को दुरुस्त भी कराएंगे।
नगर आयुक्त विशाल सिंह ने बताया कि इसके लिए व्हाट्सअप के माध्यम से समस्त अधिकारियों एवं सफाई नायकों को जोड़ा गया है, जिससे दीपोत्सव के आयोजन तक सभी अधिकारी व कर्मचारी एक दूसरे के संपर्क में बने रहें। सफाई की हर जगह समुचित व्यवस्था रहेगी।

पंचायत राज विभाग से 500 कर्मचारियों की भी लगी ड्यूटी

जिला पंचायत राज विभाग से भी 500 सफाईकर्मी की ड्यूटी लगाई गई है। इन्हें विभाग व सेक्टर वार विभाजित करते हुए आवश्यकतानुसार दो शिफ्टों में ड्यूटी लगाई गई है। पहली शिफ्ट प्रातः 6 से दोपहर 2 बजे व दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 से रात्रि 10 बजे तक रहेगी। अतिरिक्त कर्मचारियों को भी तीन शिफ्ट में ड्यूटी के लिए रखा गया है। यह सभी दीपोत्सव व परिक्रमा मेला तक कार्य करेंगे।

मोबाइल टॉयलेट भी स्थापित किए जाएंगे
कई स्थानों पर अस्थायी रूप से मोबाइल टॉयलेट भी स्थापित किये जायेंगे। अस्थायी शौचालय के लिए नागेश्वर नाथ मंदिर के पास, रामकथा पार्क के समीप, सही गेस्ट हाउस के पास, रामकथा पार्क के मोड़ पर, गेस्ट हाउस के अंदर, नयाघाट रामकथा पार्क के रास्ते पर, राम की पैड़ी के आगे की तरफ कच्चाघाट पर प्राधिकरण की दुकानों के समीप समेत 22 स्थानों को चिह्नित किया गया है।

मुख्यमंत्री के आदेश के अनुरूप हो रही व्यवस्था
मुख्यमंत्री ने सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने का आदेश दिया था। इसके मददेनजर सभी प्रमुख स्थानों एवं मार्गों के पास अस्थायी एवं स्थायी रूप से इस्टबिन की व्यवस्था की जा रही है। रामकथा पार्क के आसपास 50-50 मीटर की दूरी, संपूर्ण घाट पर, राम की पैड़ी के आसपास के क्षेत्रों में तथा प्रमुख मार्गों व चौराहों पर 50-50 मीटर की दूरी पर भी डस्टबिन रहेगा। इसके अतिरिक्त सफाई वाहन निरंतर उक्त क्षेत्रों में भ्रमण करते हुए कूड़े का निस्तारण सुनिश्चित कराते रहेंगे। वाहनों का नियंत्रण संबंधित क्षेत्र के मुख्य सफाई व खाद्य निरीक्षण की देखरेख में होगा। सभी वाहन चालक व सफाई नायक व्हाट्सअप ग्रुप पर सक्रिय रहेंगे।

दीप हटाने के लिए लगाए जाएंगे 100 कर्मचारी
दीप प्रज्ज्वलन के उपरांत रात में दीये हटाने के लिए भी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इस व्यवस्था में 100 कर्मचारी रहेंगे। साथ ही प्रशासन व विभागों से जो निर्देश मिलेंगे, उसके अनुरूप सफाई व्यवस्था पर भी ध्यान रहेगा।

पेयजल व्यवस्था पर भी रहेगा ध्यान
दीपोत्सव में पेयजल की भी व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित रहेगी। इसके लिए राम की पैड़ी, बांध तिराहा, हनुमान गुफा, साकेत पेट्रोल पंप, रामकथा पार्क, डाक बंगला, करतलिया बाबा, तुलसी उद्यान, हेलीपैड के पास, बैंक ऑफ बड़ौदा, दीनबंधु अस्पताल के पास पानी के टैंकर की व्यवस्था रहेगी। साथ ही 5000 लीटर क्षमता के पानी के दो टैंक की भी व्यवस्था रहेगी।

Published on :

यह भी पढ़ें



प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *