Update on:

in

by


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में प्रबुद्धजन सम्मेलन के अवसर पर 517 करोड़ रुपए की 376 विकास परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास

मेरठ। मेरठ आज विकास की नई दौड़ के साथ आगे बढ़ रहा है। दुनिया की आधुनिकतम सुविधाएं मेरठ और इसके आसपास के क्षेत्रों को मिल रही हैं। आज मेरठ की पहचान मेरठ के अत्याधुनिक विकास, यहां के स्किल डेवलपमेंट और पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के रूप में होने जा रही है। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट में स्पोर्ट्स आइटम के लिए मेरठ को चिन्हित करके उसको प्रमोट करने के लिए जो कार्यक्रम बने हैं वो मेरठ की पहचान बन रहे हैं। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में प्रबुद्धजन सम्मेलन ‘प्रगति पथ पर खेल नगरी’ के दौरान कहीं। इस अवसर पर उन्होंने 517 करोड़ रुपए की 376 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को आवास की चाबी व चेक प्रदान किए।

मेरठ ने बनाई अलग पहचान
अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि मां गंगा और मां यमुना का आशीर्वाद इस पावन धरा पर सदैव बरसता है और बाबा औघड़नाथ की कृपा के साथ ही मेरठ जनपद ने अपनी अलग पहचान बनाई है। इसकी अपनी एक पौराणिक पहचान थी। आज से 5 हजार वर्ष पहले मेरठ के हस्तिनापुर में ही भारत का इतिहास रचा गया था। स्वतंत्र भारत में यह अपनी स्किल के माध्यम से एक नई पहचान दिलाने वाली धरती भी है। कौन नहीं जानता है कि यहां के हस्तशिल्पी और कारीगरों ने स्पोर्ट्स सिटी के रूप में मेरठ को विकसित कर दिया है। आज दुनिया में कहीं भी कोई भी खेल हो उसकी सामग्री कहीं मिलती है या उसका सामान कहीं बनता है तो वो मेरठ है। मेरठ की इन्हीं विशेषताओं को ध्यान में रखते हुए डबल इंजन की सरकार लगातार मेरठ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है।

रैपिड रेल के लिए अग्रिम बधाई
मेरठ के विकास पर चर्चा करते हुए सीएम बोले कि 12 लेन का एक्सप्रेस-वे, दिल्ली-मेरठ की दूरी को मात्र 45 मिनट में पूरी करने के लिए पर्याप्त है। 5 साल पहले मेरठ से दिल्ली की दूरी में 3 से 4 घंटे लगते थे, लेकिन आज 45 मिनट में ये दूरी तय कर सकते हैं। ऐसे ही मेरठ से बुलंदशहर, मेरठ से बागपत की दूरी को भी सीमित करने का प्रयास हो रहा है। जब दिल्ली की दूरी कम हो गई है तो प्रदेश की राजधानी की दूरी भी कम होनी चाहिए इसके लिए गंगा एक्सप्रेस वे बनाया जा रहा है जो मात्र साढ़े 4 घंटे में मेरठ से लखनऊ की दूरी को पूरा कर देगा। देश की पहली रैपिड रेल भी दिल्ली-मेरठ के बीच बन रही है। इसके लिए मेरठ को अग्रिम बधाई दे रहा हूं। अच्छे लोगों को चुनेंगे तो अच्छे परिणाम आएंगे। अच्छी सरकारें आती हैं तो विकास भी साथ लेकर आती हैं।

खत्म हुआ आतंकवाद और अराजकता का माहौल
सीएम योगी ने आगे कहा कि आज देश और प्रदेश जिस रोजगार और स्किल डेवलपमेंट के लिए जाना जा रहा है उसकी पहली शर्त है कि अखिल भारतीय स्तर पर आतंकवाद, अराजकता, अलगाववाद को समाप्त करना होगा। सौभाग्य से प्रधानमंत्री मोदी जी के 2014 में देश की बागडोर संभालने के बाद देश में आतंकवाद, नक्सलवाद और अलगाववाद पूरी तरह समाप्त हुआ है। 2017 में आपने प्रदेश में डबल इंजन की सरकार का गठन किया, आज उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सुरक्षा का एक बेहतर माहौल दे रही है। कानून व्यवस्था दंगा मुक्त, कर्फ्यू मुक्त, आस्था का सम्मान करने वाली, प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा की गारंटी देने वाली बन चुकी है। इसकी सर्वत्र सराहना हो रही थी। पहले ये गुंडे, माफिया, अपराधी बहन-बेटियों का स्कूल जाना बंद करा देते थे। वो बाजार नहीं जा पाती थीं। व्यापारियों और उद्यमियों को गुंडा टैक्स देना होता था। कोई निवेश नहीं करना चाहता था। जो निवेश किया है वो निवेश छोड़कर भागता था। आज ये पेशेवर माफिया और अपराधी गुंडा टैक्स नहीं वसूल कर सकते। आज ये किसी बहन बेटी की इज्जत के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते। उनसे पहले ही कह दिया था कि उन्होंने कोई अराजक हरकत की तो जान के लाले पड़ेंगे। आज आप अपराधियों को गले में तख्ती लगाकर घूमते हुए देखते होंगे।

स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा मेरठ
सीएम योगी ने कहा कि मेरठ स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा है और स्मार्ट सिटी में आईटीएमएस को हम सेफ सिटी के साथ जोड़ रहे हैं। बहन-बेटी हो, व्यापारी हो, आम नागरिक हो उसकी सुरक्षा में कोई सेंध लगाने का दुस्साहस किया तो अगले चौराहे पर पुलिस उसको ढेर कर चुकी होगी। हम स्मार्ट सिटी में आईटीएमएस को इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल के रूप में विकसित कर रहे हैं। निवेश का एक अच्छा वातावरण बना है। इसी को देखते हुए उत्तर प्रदेश देश की अर्थव्यवस्था का ग्रोथ इंजन बनने की सामर्थ्य रखता है। इस सामर्थ्य को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी के विजन के अनुरूप उत्तर प्रदेश की इकॉनमी को एक मिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाना है तो व्यापक निवेश का आकर्षित करना होगा। इन्हीं बातों को केंद्र में रखकर मैं मेरठ के उद्यमियों और प्रबुद्धजनों से अपील करने आया हूं।

स्थानीय स्तर पर भी चाहिए जनता का आशीर्वाद
सीएम योगी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार के साथ स्थानीय आवश्यक्ताओं के लिए स्थानीय स्तर पर भी जो सरकारें गठित होती हैं, उनकी भी बड़ी भूमिका होती है। बहुत सारे एनओसी उनसे लेने होते हैं। उसके लिए भी तैयारी की जा रही है। 10 से 12 फरवरी के बीच हमने उत्तर प्रदेश में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाया जा सके, रोजगार का व्यापक पैमाने पर सृजन किया जा सके, उत्तर प्रदेश के नौजवानों की प्रतिभा और ऊर्जा का प्रयोग हम प्रदेश के विकास में कर सकें, इसके लिए आप सबका आशीर्वाद भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजन सरकार को चाहिए। विकास की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए सरकार के स्तर पर उठाए गए कदमों को जनता का आशीर्वाद निरंतर मिला है। हमारे जनप्रतिनिधियों के साथ आपका सानिध्य और समर्थन हमारे लिए बहुत बड़ा संबल होता है। उस संबल को और पुष्ट करने के लिए स्थानीय निकाय के प्रबुद्धजन शासन की इन योजनाओं को हर परिवार तक पहुंचाने में मदद करें। अगर मेरठ के अंदर पिछली बार नगर निकाय में भारती जनता पार्टी का बोर्ड गठित होता तो मेरठ का कायाकल्प करने में हम लोगों को और मदद मिल गई होती। और तेजी के साथ कार्यों को आगे बढ़ाते, क्योंकि सरकार तो पैसा भेज सकती है लेकिन उसको ईमानदारी के साथ जमीनी धरातल पर पहुंचाने के लिए स्थानीय बोर्ड को जिम्मेदारी का निर्वहन करना होता है। मेरठ में जो 517 करोड़ की 376 परियोजनाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं ये हमारे जनप्रतिनिधियों के परिश्रम और पुरुषार्थ का परिणाम है। इसमें स्मार्ट सिटी से जुड़ी परियोजनाएं भी हैं तो स्किल डेवलपमेंट से जुड़ी परियोजनाएं भी हैं। डबल इंजन की सरकार को आपका आशीर्वाद प्राप्त हुआ। अब स्थानीय निकाय के साथ-साथ निवेश के बेहतरीन गंतव्य के रूप में उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए आपके आशीर्वाद की आवश्यक्ता है। मेरा मानना है कि एक स्कूल का निर्माण होना, एक कॉलेज का निर्माण होना, एक विश्वविद्यालय का निर्माण होना, एक चिकित्सालय या मेडिकल कॉलेज का निर्माण हो या उद्योग का, ये हमारे लिए निवेश है। आपकी पूंजी की सुरक्षा और आपकी सुरक्षा की गारंटी सरकार अपने हाथों में लेती है। आप प्रदेश में निवेश करिए और उत्तर प्रदेश सरकार हर प्रकार की सुरक्षा प्रदान करेगी, आपके निवेश की सुगमता के लिए सरकार भरपूर मदद करेगी। कार्यक्रम में भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान, उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री जल शक्ति दिनेश खटीक, ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा राज्य मंत्री डॉ. सोमेंद्र तोमर, सांसद राजेंद्र अग्रवाल, डॉ. सत्यपाल सिंह, डॉ लक्ष्मीकांत बाजपेयी, विजयपाल सिंह तोमर, कांता कर्दम समेत कई विधायक व पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Published on :

यह भी पढ़ें



प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *