Update on:

in

by


फ्रांस में रोड शो और बिजनेस मीटिंग के जरिए टीम योगी ने किए महत्वपूर्ण करार

लखनऊ, किसानों की आय दोगुनी करने के योगी सरकार के लक्ष्य को हासिल करने में अब फ्रांस की कंपनियां भी सहयोग करेंगी। फ्रांस में निवेश की संभावनाएं तलाशने गई टीम योगी को कृषि और एयरक्राफ्ट मेंटीनेंस जैसे क्षेत्रों में कंपनियों की ओर से निवेश के महत्वपूर्ण प्रस्ताव मिले हैं। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल के फ्रांस के पेरिस में रोड शो व बिजनेस मीटिंग्स के दौरान यह प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। वहीं, जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह के नेतृत्व में सिंगापुर गए प्रतिनिधिमंडल ने भी सिंगापुर के व्यापारिक समुदाय के साथ 7700 करोड़ के एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं जबकि यूके और यूएस जैसे देशों से 4 लाख करोड़ के निवेश के प्रस्ताव मिल चुके हैं। उल्लेखनीय है कि सीएम योगी ने फरवरी 2023 में होने जा रही ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के जरिए 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य रखा है और जिस तरह से टीम योगी को विदेशों में निवेशकों का समर्थन मिला है, उसे देखते हुए संभावना है कि प्रदेश ने लक्ष्य से अधिक का निवेश हो सकता है।

यूपी के किसानों की आय बढ़ाएगा फ्रांस
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और आईटी मंत्री योगेंद्र उपाध्याय के नेतृत्व में फ्रांस में रोड शो व बिजनेस मीटिंग के जरिए हजारों करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। प्रतिनिधिमंडल ने इनोटेरा एजी के सीईओ पास्कल फॉन से मुलाकात की, जिन्होंने प्रदेश सरकार के साथ 1000 करोड़ के निवेश इंटेंट पर हस्ताक्षर किए। इस निवेश के जरिए इनोटेरा प्लेटफॉर्म का सेट-अप किया जाएगा। यह किसान कनेक्ट प्लेटफॉर्म है जो प्रदेश में किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य हासिल करने में सहायक हो सकता है। इसी तरह प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात सैफरन ग्रुप के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट इंटरनेशनल एंड पब्लिक अफेयर्स मार्टिन क्लॉट्ज से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश में निवेश योजनाओं पर चर्चा हुई। प्रतिनिधिमंडल ने उन्हें यूपीजीआईएस 2023 के लिए आमंत्रित किया है। इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट माइकल पैसकॉफ ने उत्तर प्रदेश में एयरक्राफ्ट मेंटीनेंस रिपेयर और ओवरहॉल के क्षेत्र में निवेश के प्रति उत्सुकता जाहिर की।

उत्तर प्रदेश में निवेश का उत्सुक सिंगापुर
सिंगापुर में जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल भी बड़े निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने में कामयाब रहा। सिंगापुर में निवेशकों के साथ वन टू वन बिजनेस मीटिंग के जरिए 7,700 करोड़ रुपए से अधिक के एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इसके तहत विभिन्न सेक्टर्स में ये कंपनियां उत्तर प्रदेश में निवेश करेंगी। सिंगापुर की कंपनियों ने पार्किंग एवं ट्रैफिक सिस्टम जैसे तकनीकी क्षेत्रों में भी निवेश में रुचि दिखाई है। स्वतंत्रदेव सिंह ने सिंगापुर की सस्टेनेबिलिटी एंड एनवायर्न मंत्री ग्रेस फू हाय येन से भी भेंट की थी और उत्तर प्रदेश में निवेश के स्वर्णिम अवसरों पर चर्चा की। इससे पहले, प्रतिनिधिमंडल ने आईटीई, विडा टेक्नोलॉजी और स्टार कंसोर्टियम प्रा. लि. के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर 4 हजार करोड़ से अधिक के एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे।

यूके और यूएस बनेंगे बड़े भागीदार
यूएस और यूके में वित्त मंत्री सुरेश कुमार खना के नेतृत्व में रोड शो एवं बिजनेस डीलिंग के माध्यम से निवेश की संभावना तलाशने गई टीम द्वारा 4 लाख 7 हजार करोड रूपए के 21 प्रस्ताव पर एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इस प्रतिनिधिमंडल ने अमेरिका और इंग्लैंड जैसे विकसित देशों के प्रमुख कंपनियों के प्रतिनिधियों से विभिन्न चरणों में यूपी में निवेश हेतु विस्तार से चर्चा की। सुरेश कुमार खन्ना ने इन देशों के उद्यमियों से आईटी, अवस्थापना, स्वास्थ्य, डेयरी, खाद्य प्रसंस्करण, कृषि, पर्यटन, शिक्षा के साथ अन्य क्षेत्रों में निवेश का प्रस्ताव दिया। सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी की ख्याति एवं उनके नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की सुशासन तथा इन्वेस्टमेंट अनुकूल सुलभ एवं सहज नीतियों के कारण औद्योगिक घराने निवेशकर्ता प्रदेश में निवेश हेतु स्वतः इच्छुक दिखे। इसके फलस्वरूप यूपी को 4 लाख 7 हजार करोड़ रूपए के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए।

निवेश सारथी पर 4 हजार से ज्यादा ने जताई निवेश में रुचि
योगी सरकार ने देसी और विदेशी निवेशकों के लिए उत्तर प्रदेश में निवेश के साधनों को आसान बना दिया है। यदि आप उत्तर प्रदेश में किसी भी सेक्टर में निवेश के इच्छुक हैं तो निवेश सारथी पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन के माध्यम से निवेश की इच्छा जाहिर कर सकते हैं। जानकारी के मुताबिक निवेश सारथी के माध्यम से प्रदेश सरकार को 4 हजार से ज्यादा निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। ये निवेश प्रस्ताव अगर धरातल पर उतरते हैं तो प्रदेश में लाखों करोड़ रुपए का निवेश होगा और लाखों रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

Published on :

यह भी पढ़ें



प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *